गणराज आज रखो लाज, पहले मनायें

गणराज आज रखो लाज, पहले मनायें Lyrics

Ganesh Ji bhajan गणराज आज रखो लाज  Written by J.P. Soni, Seoni, (M.P.)

गणराज आज रखो लाज, पहले मनायें

गणराज आज रखो लाज 

 तर्ज :- एहसान मेरे दिल पे तुम्हारा दोस्तों 

    गीत :- गणराज आज रखो लाज, पहले मनायें 

              मूसा के साथ वाहन में नाथ बुलायें |

पद-1:-  शंकर के प्यारे लाल, पार्वती दुलारे | 

             विघ्नों को सुमन करें, विपद जन की निवारे |

                एकदंत रूप लम्बोदर परम सुहाये || मूसा के साथ …

पद -2 :- है शीष मुकुट वक्रतुंड भुजा चार है |

              देवो के देव प्रथम पूज्य आये द्वार है |

                  बिगड़ी बनाओ दीनन की टेर लगाये || मूसा के साथ …

पद -3 :- है रिद्धी – सिद्धी स्वामी, है बुद्धि के दाता |

               है नाथ अनाथों के, भक्तों के विधाता |

           रसिया ले आये लडुआ भोग, गुड़ के लगाये || मूसा के साथ …

For More Lyrics:-

गणराज आज महाराज सुनो, Lyrics

Leave a Comment

error: Content is protected !!